Home रतलाम लूट के प्रयास मामले में पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा, बहादुरी...

लूट के प्रयास मामले में पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा, बहादुरी पर महिला और अन्य का सम्मान

रतलाम(खबरबाबा.काम)। ओद्योगीक थाना क्षैत्र अंतर्गत काटजू नगर में रविवार रात एक युवक द्वारा घर में घुसकर लूट के प्रयास के मामलें में पुलिस ने जांच के बाद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस के अनुसार लूट की वारदात का मुख्य सूत्रधार फरियादी के बेटे का दोस्त ही है। इस मामले में मौके से पकड़ाए आरोपी के पास से मिले मोबाइल में दोनों आरोपियों के बीच की व्हाट्सएप पर हुई बातचीत भी रेकार्ड है। ज्ञातव्य है कि घर में मौजुद अकेली महिला ने बहादुरी का परिचय देते हुए आरोपी का सामना किया, जिसकी वजह से एक आरोपी को कुछ लोगों ने मौके पर ही पकड़ लिया। सोमवार को डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी और एसपी अमित सिंह ने महिला के घर पहुंचकर उनका और आरोपी को पकडऩे वाले लोगों का सम्मान किया और उनकी बहादुरी की प्रशंसा की।
बाद में पुलिस नियंत्रण कक्ष पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए एसपी अमित सिंह ने बताया कि लूट के प्रयास के इस मामले में मौके से पकड़ाएं कैलाश पिता रावजी 22 वर्ष निवासी गढीगमना थाना बाजना को गिरफ्तार कर उसके पास से नकली पिस्तौल, एक सेलो टेप का गट्टा, एक नायलोग की रस्सी और एक काला बेग बरामद किया गया है। एसपी ने बताया कि अनुसंधान के दौरान सामने आया कि घटना का प्रमुख सूत्रधार काटजू नगर निवासी जुगनू उर्फ चंद्रशेखर है, जो फरियादी के बेटे का दोस्त भी है और फरियादी के घर उसका आनाजाना था। पुलिस के अनुसार वारदात के लिए पुरी रैकी की गई थी और जुगनू ने घटना के लिए कैलाश को बुलाया था। वहअपने स्कूटर से कैलाश को घटना स्थल के पास छोड़ गया था। एसपी अमित सिंह ने बताया कि वारदात के समय दोनों आरोपी लगातार व्हाटसएप पर चैटींग कर रहे थे, जिसमें चाकू से हमले तक की बात भी है।
यह है पुरा घटनाक्रम
रविवार शाम करीब 7.30 बजे काटजू नगर में निर्मला भवन के पास वाली रोड पर रहने वाले व्यवसायी संजय जायसवाल के यहां लूट की वारदात का प्रयास हुआ। शाम को उनकी पत्नी प्राची घर पर अकेली थीं। महिला के अनुसार रविवार दोपहर को जब बारिश हुई तब भी यही लड़का मेन गेट खोलकर अंदर आ गया था। पूछने पर बारिश से बचने के लिए खड़े होने की बात कही तो डांट कर भगा दिया था। शाम करीब 7.30 बजे गेट खुलने की आवाज सुनकर प्राची ने दरवाजा खोला। दरवाजा खोलते ही युवक अंदर घुसा और गले पर पिस्टल अड़ा दी। प्राची ने युवक को पिस्टल छिनकर धक्का दे दिया। आरोपी युवक दरवाजे से बाहर जा गिरा। प्राची ने शोर मचाया तो युवक गेट से निकलकर भागने लगा। बाहर खड़ा उसका साथी भी भाग गया। शोर मचाते हुए प्राची भी बाहर निकलीं। उन्होंने बाइक पर जा रहे तीन छात्रों से भाग रहे युवक को पकडऩे के लिए मदद मांगी। छात्रों ने पीछा किया तो आरोपी युवक खाली प्लॉट पर मुड़ा और बाउंड्रीवॉल के कारण भाग नहीं पाया। छात्रों और मोहल्ले के कुछ लोगों ने युवक को पकड़ लिया । बाद में डायल-100 को कॉल कर आरोपी को पुलिस को सौंप दिया। आरोपी के पास मिली पिस्टल नकली निकली।
बहादुरी को मिला सम्मान
घर में अकले महिला प्राची जायसवाल द्वारा जिस बहादुरी से आरोपी का सामना किया उसकी पुलिस अधिकारियों ने प्रशंसा की। सोमवार को डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी, एसपी अमित सिंह, सीएसपी विवेकसिंह चौहान काटजू नगर स्थित फरियादी के घर पहुंचे और प्राची जायसवाल को सम्मान पत्र के साथ सम्मान निधी भी सौंपी। इसके अलाना आरोपी को साहस कर पकडऩे वाले काजटू नगर स्थित होम्यौपैथी कालेज के छात्र जिगनेश पिता हंसराल निवासी दाहोद(गुजरात), शैलेष पिता रमेशबाई निवासी गुजरात, प्रवीण जैन , मनीष पिता प्रकाशचंद्र चाष्ठा निवासी काटजू नगर का भी पुलिस अधिकारियों ने सम्मान किया।