Home देश लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 60.48 प्रतिशत मतदान, पश्चिम बंगाल में...

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 60.48 प्रतिशत मतदान, पश्चिम बंगाल में 80 प्रतिशत वोटिंग

नई दिल्ली, 13मई। छठे चरण के मतदान के साथ ही 543 लोकसभा क्षेत्रों में से करीब 89 फीसदी सीटों पर चुनाव संपन्न हो गए जबकि शेष 59 सीटों पर 19 मई को चुनाव होंगे. चुनाव आयोग ने विभिन्न राज्यों और दिल्ली में 63.48 फीसदी मतदान की घोषणा की, वहीं पश्चिम बंगाल में 80 फीसदी से अधिक वोट पड़े जबकि राष्ट्रीय राजधानी में महज 60.21 फीसदी मतदान हुआ. 2014 में यह 63.37 प्रतिशत था. चुनाव आयोग ने कहा कि मतदान प्रतिशत रात नौ बजे दर्ज किया गया. यह आंकड़ा अंतिम नहीं है और इसमें वृद्धि हो सकती है क्योंकि कुछ स्थानों पर मतदान चल रहा है.

इस चरण में जिन महत्वपूर्ण नेताओं और हस्तियों के भाग्य का फैसला होना है उनमें केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, हर्षवर्द्धन और मेनका गांधी, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और शीला दीक्षित, गौतम गंभीर, विजेन्द्र सिंह, दिनेश लाल यादव ‘निरहुआ’, रविकिशन और हंसराज हंस शामिल हैं.

दिल्ली में इस बार मत प्रतिशत 2014 की तुलना में कम रहा. 2014 में राष्ट्रीय राजधानी में 65 फीसदी वोटिंग हुई थी. मतदाताओं को वोट देने के लिए जागरुक करने के प्रयास के बावजूद कम मतदान को लेकर चुनाव आयोग भी निराश है. दिल्ली में भाजपा, कांग्रेस और आप के बीच त्रिकोणीय मुकाबला था जिसमें कई हाईप्रोफाइल उम्मीदवार शामिल हैं.

पश्चिम बंगाल में आठ सीटों पर 80.35 फीसदी मतदान दर्ज किया गया जहां घाटल सीट से भाजपा उम्मीदवार और पूर्व आईपीएस अधिकारी भारती घोष पर स्थानीय लोगों ने दो बार हमले किए जब उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र में मतदान केंद्रों का दौरा करने का प्रयास किया. अधिकारियों ने कहा कि केशपुर इलाके में घोष ने जब भाजपा के एक एजेंट को मतदान केंद्र के अंदर ले जाने का प्रयास किया तो महिलाओं के एक समूह ने उन पर कथित तौर पर हमला किया.

उत्तरप्रदेश के 14 लोकसभा क्षेत्रों में 54 फीसदी वोट पड़े. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और मेनका गांधी राज्य से चुनावी मैदान में हैं. बिहार में आठ लोकसभा सीटों पर करीब 59.38 फीसदी मतदान हुआ. हरियाणा में दस लोकसभा सीटों पर करीब 69.50 प्रतिशत मतदान हुआ और अधिकारियों ने कहा कि कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और राज्य में चुनाव आमतौर पर शांतिपूर्ण रहा. झारखंड में चार लोकसभा सीटों पर करीब 65.17 फीसदी मतदान हुआ, जबकि मध्यप्रदेश में आठ लोकसभा सीटों पर 64.01 फीसदी मतदान हुआ.

(साभार-आज तक)