Home रतलाम विधानसभा चुनाव: अभी से बैंक ट्रांजैक्शन पर नजर, बैंकों को अगस्त माह...

विधानसभा चुनाव: अभी से बैंक ट्रांजैक्शन पर नजर, बैंकों को अगस्त माह के ट्रांजैक्शन की जानकारी भी निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराने के निर्देश, कलेक्टर और एसपी ने ली बैंक अधिकारियों एवं पेट्रोल पंप संचालकों की बैठक

रतलाम 19 सितम्बर(खबरबाबा.काम)। आगामी विधानसभा निर्वाचन 2018 के तहत अभ्यर्थियों के खर्चों पर चुनाव आयोग के निर्देशानुसार निगरानी रखी जाएगी। इसके लिए विभिन्न टीमें गठित की गई हैं, ये टीमें अपने विषय के अनुसार मैदानी क्षेत्रो में खर्च पर नजर रखते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगी। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने इस सम्बन्ध में आज आयोजित एक बैठक में उपस्थित बैंकर्स को निर्देशित किया कि वे निर्वाचन अवधि के दौरान बैंक खातों से होने वाले ट्रांजेक्शन की जानकारी निर्वाचन कार्यालय को देंगे। सूचनाएं समय सीमा मे उपलब्ध कराई जाएगी। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी, सहायक आयुक्त आयकर गिरीश जाधेदकर, अपर कलेक्टर जितेन्द्रसिंह चौहान, जिले के पेट्रोल पम्प संचालक, वाणिज्य कर विभाग के अधिकारीगण, आयकर विभाग के अधिकारी तथा बैंकर्स उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बैंकर्स को निर्देशित किया कि वे आदर्श आचरण संहिता के लागू होने की प्रतीक्षा नहीं करें, बल्कि अभी से बैंक ट्रांजेक्शन पर निगरानी शुरू कर दें। यहां तक की बैंकर्स को विगत अगस्त माह के ट्रांजेक्शन की जानकारी भी निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध करानी होगी। इसमें यह देखा जाएगा कि अभ्यर्थियों तथा उनके निकटतम रिश्तेदारों द्वारा किस प्रकार बैंक ट्रांजेक्शन किए जा रहे हैं। चुनाव आयोग द्वारा ट्रांजेक्शन की निर्धारित सीमा में बैंक कार्रवाईयों पर नजर रखी जाएगी।

बैठक में उपस्थित पेट्रोल पम्प संचालकों को निर्देशित किया गया कि वे अपने पम्पों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए। कलेक्टर श्रीमती चौहान ने निर्देशित किया कि सीसी टीवी फुटेज में पम्प पर आने वाली गाडियों के नम्बर स्पष्ट रुप से दिखाई देने चाहिए। पेट्रोल पम्प संचालक आयोग द्वारा जारी किए गए निर्देशों के अनुसार अपने यहां पर्याप्त मात्रा में डीजल, पेट्रोल का स्टाक सुनिश्चित करें। बैठक में चुनाव लडने वाले अभ्यर्थियों के खर्च पर निगरानी के लिए गठित की गई स्थेतिक निगरानी दल, फ्लाईंग स्क्वाड,जिला नियंत्रण कक्ष, काल सेन्टर, वीडियो मानिटरिंग दल इत्यादि की जानकारी दी गई। इन दलों के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया गया। पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बैंकर्स को निर्देशित किया कि वे समय सीमा में सूचनाएं उपलब्ध कराएंगे जिससे किसी भी गैरकानूनी गतिविधि पर सख्त कार्रवाई की जा सके।