Home रतलाम शहर और जिले के ग्रामों में जल आपूर्ती के लिए गांधी सागर...

शहर और जिले के ग्रामों में जल आपूर्ती के लिए गांधी सागर डेम तथा माही नदी से पानी लाने के लिए बनेगी योजना, दिशा की बैठक में हुआ निर्णय,लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को योजना तैयार करने के लिए कहा।

रतलाम 20 अप्रैल(खबरबाबा.काम)। जिला स्तरीय सतर्कता एवं मॉनीटरिंग समिति दिशा की बैठक शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता सांसद कांतिलाल भूरिया ने की। बैठक में शहर विधायक रतलाम चेतन्य काश्यप ने कहा कि रतलाम शहर तथा जिले के ग्रामों में जल आपूर्ति के लिए माही नदी तथा मंदसौर के गांधीसागर डेम से पानी लाया जाएगा। इसके लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग योजना तैयार करे। शासन से इस योजना की स्वीकृती प्राप्त की जाएगी।

बैठक में सांसद कांतिलाल भूरिया ने विभिन्न ग्रामीण विकास योजनाओं की समीक्षा में अद्यतन जानकारी लेते हुए सघन मॉनीटरिंग के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा, कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान, सीईओ जिला पंचायत सोमेश मिश्रा, समिति सदस्य हर्ष विजय गेहलोत, राकेश झालानी, अभिषेक शर्मा, सांसद प्रतिनिधि प्रदीप चौधरी तथा जिले के अधिकारी उपस्थित थे।

जल आपूर्ती के लिए स्थाई योजना बनें
बैठक में विधायक श्री काश्यप ने कहा कि ट्यूबवेल खनन जल आपूर्ति का स्थाई समाधान नहीं हो सकता। इसके लिए ऐसी योजना तैयार करके शासन से स्वीकृत कराई जाएगी जिसमें पाइप लाईन के जरिए माही नदी व गांधीसागर डेम से पानी लाया जाएगा। उन्होंने इस संबंध पीएचई के ईई को विस्तृत सर्वे के भी निर्देश दिए। सांसद कांतिलाल भूरिया ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा में निर्देश दिए कि सभी सड़कों पर दिशा सूचक बोर्ड लगाया जाए। नई सड़कों के प्रस्ताव भेजे। जिन सड़कों की मरम्मत की जानी है वर्षा पूर्व कर ली जावे। सैलाना के एकलव्य आदर्श आवासी विद्यालय परिसर की आन्तरिक सड़कों की दुरूस्ती भी करने के निर्देश दिए गए। जल संसाधन विभाग की समीक्षा में बताया गया कि वर्तमान में 14 प्रचलित परियोजनाओं का कार्य पूर्ण किया जा चुका है। शेष चार परियोजनाएं मई तक पूर्ण कर ली जाएगी। सांसद ने विभाग को अपने परियोजनाओं में ज्यादा से ज्यादा मजदूरों को रोजगार देने के निर्देश दिए। ईई द्वारा बताया गया कि जिले के लिए 9 परियोजनाएं और स्वीकृत हुई हैं। इनमें निविदा कार्यवाही की जा रही हैं।
बैठक में सैलाना के केदारेश्वर क्षेत्र में निर्मित शिकारवाड़ी कूप में पानी का ठहराव नहीं होने पर सांसद श्री भूरिया ने जांच समिति गठित करने के निर्देश दिए। पीएचई को यह निर्देश दिए गए कि अब जिले में जो भी नए नलकूप खनन करायेंगे, उनके शासन के निर्धारित मापदण्डो के अनुसार खनन हेतु स्थानीय पंचायत के सरपंच तथा जनप्रतिनिधियों के द्वारा मौके पर सत्यापन कराया जाएगा। विद्युत वितरण कंपनी के कार्या की समीक्षा में कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान ने निर्देशित किया कि जब कंपनी मेंटेनेंस का कार्य करे, तब एक तय शेडयूल तैयार कर जानकारी ग्रामीणों को दी जाएगी कि इतने समय तक विद्युत आपूर्ति नहीं की जा सकेगी।

अमृत सागर बगीचे का निर्माण शीघ्र करें
अमृतसागर तालाब से जलकुंभी हटाने तथा सौन्दर्यीकरण के लिए निर्देशित किया गया। बताया गया कि अमृतसागर पर 1 करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से बगीचे का निर्माण स्वीकृत हुआ है। विधायक श्री काश्यप ने बगीचा निर्माण कार्य शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए। शिक्षा विभाग द्वारा बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में विद्यार्थियों को 7 हजार 499 साईकिलें प्रदान की जाएगी। पाठ्यपुस्तकों का वितरण जून के प्रथम सप्ताह पूरा कर दिया जाएगा। बैठक में सामाजिक न्याय, पीएम आवास तथा मनरेगा योजनाओं की भी समीक्षा की गई।
————-