Home रतलाम सौतेला पिता ही निकला 6 वर्षीय बालिका का कातिल, गला घोंटकर की...

सौतेला पिता ही निकला 6 वर्षीय बालिका का कातिल, गला घोंटकर की हत्या, रतलाम पुलिस की संवेदनशीलता और सक्रीयता से हुआ मामले का खुलासा

रतलाम, 25 अप्रैल(खबरबाबा.काम)। जिले के पिपलौदा थाना क्षेत्र में 6 साल की बच्ची की मौत के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार बच्ची के सौतेले पिता ने ही बच्ची के साथ मारपीट कर उसकी गला घोंटकर हत्या की है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में बालिका के साथ दुष्कर्म होने की आशंका भी जताई है। विस्तृत पीएम रिपोर्ट सामने आने के बाद पुलिस आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म की धारा भी बढ़ा सकती है।

बुधवार शाम पुलिस कंट्रोल रूम पर आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी अमित सिंह और एएसपी डा. राजेश सहाय ने मामले का खुलासा किया। एसपी श्री सिंह ने बताया कि 23 अप्रैल को पिपलौदा थाने पर फोन कर एक व्यक्ति ने  सूचना दी कि ग्राम कुशलगढ़ में 6-7 साल की बच्ची की मौत के बाद परिजन उसे दफनाने के लिए जावरा में कब्रिस्तान ले जा रहे है और बच्ची की मौत संदेहास्पद है। सूचना को गंभीरता से लेते हुए एसपी अमित सिंह और एएसपी डां. राजेश सहाय के निर्देशन में थाना प्रभारी श्री तोलानी  टीम के साथ जावरा पहुंचे और  बालिका का शव बरामद किया।  बालिका के शव पर चोंट का निशान देख मामला संदिग्ध होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जावरा अस्पताल भिजवाया।

पिता ही निकला कातिल

मामले को गंभीरता और संवेदनशीलता से लेते हुए  इस मामले में एसपी अमित सिंह द्वारा एएसपी डां. राजेश के नेतृत्व में जावरा एसडीओपी डी. आर.माले, पिपलौदा थाना प्रभारी (प्रशिक्षु आईपीएस) अमित तौलानी और पुलिस अधिकारियों की टीम गठित की गई।  जांच टीम ने पाया कि पिता की भूमिका संदीग्ध है। शोर्ट पीएम रिपोर्ट में भी बच्ची के साथ मारपीट, गले और शरीर पर चोट के निशान पाए गए। पुलिस के अनुसार इसके बाद आरोपी सौतेले पिता वारिस खां को हिरासत में लेकर पुछताछ की तो उसने भी  गला घोंटकर हत्या करना स्वीकार कर लिया, जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया। एसपी अमित सिंह ने बच्ची के साथ आरोपी द्वारा दुष्कर्म की आशंका भी जताई है। इस मामले में पुलिस विस्तृत पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है जिसके बाद पुलिस पीएम रिर्पोट के आधार पर दुष्कर्म की धारा बढा सकती है।

पुलिस की संवेदशीलता और सक्रीयता से सामने आया मामला

खास बात यह है कि इस मामले फरियादी खुद पुलिस ही है। रतलाम पुलिस ने गुमनाम फोन पर खुद ही संवेदनशीलता और सक्रीयता  दिखाते हुए  दफन करने के ठीक पहले बालिका का शव बरामद करते हुए जांच कर मामले का खुलासा किया है। एसपी अमित सिंह ने कहा कि पुलिस इस मामले की विवेचना सनसनीखेज प्रकरण में करके इसे फास्ट ट्रैक में ले जाने की कोशिश करेगी ताकि आरोपी को कड़ी सजा हो सके। पत्रकार वार्ता में एसपी के साथ एएसपी डॉ. राजेश सहाय, पिपलौदा थाना प्रभारी (प्रशिक्षु आईपीएस )अमित तोलानी, एसडीओपी डीआर माले आदि मौजूद रहे।

इनकी रही भूमिका

इस मामले के खुलासे में एएसपी डॉ. राजेश सहाय, थाना प्रभारी अमित तोलानी, एफएसएल अतुल मित्तल, थाना प्रभारी जावरा श्यामचंद्र शर्मा, सीमा सिमरोट जावरा, बीके दुबे, बीएस कुशवाह, सीताराम, मोहनलाल, प्रेमसिंह मुनिया, अवधेश, गजेंद्रसिंह, जंयतीलाल पाटीदार की विशेष भूमिका रही।