Home रतलाम सौ साल की महिला का हुआ कुल्हे का सफल आपरेशन

सौ साल की महिला का हुआ कुल्हे का सफल आपरेशन

रतलाम,18अक्टूबर। कहते है इंसान का जीवन और मौत दोनो भगवान के हाथों में है । लेकिन बीमारी में डॉक्टर को भी भगवान माना गया है । जिसकी बानगी शुक्रवार को देखने को भी मिली ।

शहर के एक नीजि आर्थो हॉस्पिटल में ऐसा ही एक चमत्कार देखने को मिला । जब नगरा निवासी एक सौ वर्षीय महिला को पलंग से गिरने पर चार बेटे आर्थो सर्जन डॉ योगेंद्र सिंह चाहर के पास लेकर पहुंचे । डॉ चाहर ने कूल्हे की हड्डी तीन जगह से टूटने पर ऑपरेशन करने की सलाह दी । और रिस्क होना भी बताया । परिवार ने तत्काल ऑपरेशन की सहमति दी । डाँ चाहर ने ऑपरेशन की तैयारी की। बुजुर्ग महिला को बेहोशी के लिये एनेस्थेसिया विशेषज्ञ डॉ महेश मौर्य को बुलाया । महिला को बेहोश करते ही उसके ह्रदय ने काम करना बंद कर दिया , सांस रुक गई , आँखे फेर दी । यह देख डॉ महेश मौर्य ने तत्काल पम्पिंग शुरू कर ऑक्सीजन देनी शुरू कर दी जिससे महिला की सांस फिर चलने लगी । करीब एक घण्टे के ऑपरेशन में इस तरह की अड़चने दो बार आयी । यह देख दोनो डॉक्टर घबरा गये , लेकिन हिम्मत नही हारी । सौ साल की महिला अब पूरी तरह स्वस्थ है , वह बाते कर रही है , भजन गा कर सुना रही है , खाना खा रही है , और तो और पलंग से उठ कर खड़ी भी हो रही है । महिला ने बताया कि वह चौथी पीढ़ी देख रही है । चारों बेटे इसे ईश्वर का चमत्कार और डॉक्टरों की मेहरबानी मान कर इसे दीपावली का उपहार बता रहे है।

इनका कहना है
इस तरह के केसेस कम ही होते है , सौ साल की महिला का ऑपरेशन के दौरान दिक्कते आयी , कुछ देर के लिये हम भी घबरा गए लेकिन अब सब कुछ ठीक ही नही बेहतर है , यह चमत्कार और दूसरा जन्म ही है । महिला का विल पॉवर काफी अच्छा है । मेरे डॉक्टरी जीवन में इस तरह का केस पहला ही देखा है ।
— डॉ योगेंद्र सिंह चाहर
आर्थोपेडिक्स सर्जन ।