Home मध्यप्रदेश हितग्राही सम्मेलन में 6 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को,61 करोड़ 20 लाख रुपये से ज्यादा के लाभ...

हितग्राही सम्मेलन में 6 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को,61 करोड़ 20 लाख रुपये से ज्यादा के लाभ वितरण किए गए,मुख्यमंत्री के उदबोधन का सीधा प्रसारण देखा व सुना गया

रतलाम 4 अगस्त(खबरबाबा.काम)।रतलाम में आज 4 अगस्त को आयोजित किए गए जिला स्तरीय हितग्राही सम्मेलन द्वारा 6378हितग्राहियों को 61 करो़ड़ 20 लाख रुपये से ज्यादा का लाभ प्रदान किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष एवं विधायक रतलाम चेतन्य काश्यप थे। अध्यक्षता महापौर डॉ. सुनीता यार्दे ने की। विशिष्ट अतिथियों के रूप में विधायक आलोट जितेन्द्र गेहलोत एवं विधायक जावरा डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय उपस्थित थे। कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान तथा सीईओ जिला पंचायत सोमेश मिश्रा एवं बड़ी संख्या में हितग्राही उपस्थित थे।

कार्यक्रम में अतिथियों के हाथों शासन की विभिन्न योजनाओं के लाभ हितग्राहियां को वितरित किए गए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बुधनी जिला सीहोर के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में दिए गए उदबोधन का सीधा प्रसारण रतलाम में मौजूद हितग्राहियों एवं आमजन द्वारा एल.ई.डी के माध्यम से देखा व सुना गया।

इस कार्यक्रम में रोजगार मेला भी आयोजित किया गया। रोजगार मेले में 476युवाओं का रोजगार के लिए प्रारंभिक चयन निजी क्षेत्र की कंपनियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष एवं विधायक चेतन्य काश्यप ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश के हित में जो सराहनीय कार्य किए गए हैं, वे पूरे देश में अन्य कही नही हुए। इतनी योजनाएं और किसी अन्य राज्य में लागू नहीं की गई है। जितनी गहराई से संवेदनशीलता के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रत्येक वर्ग के लिए योजनाएं बनाई है। उतनी अन्य किसी राज्य ने नहीं बनाई हैं। मुख्यमंत्री ने संबल जैसी अनूठी योजना बनाकर जनता को यह विश्वास दिया है कि कैसी भी विपरीत परिस्थिति हो सरकार उनके साथ है, मुख्यमंत्री उनके साथ है। संबल योजना द्वारा आम आदमी के जीवन को पूर्ण सुरक्षा प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि आम आदमी को बिजली के बिल की चिन्ता से मुक्त कर दिया गया है। उज्ज्वला योजना ने निःशुल्क गैस कनेक्शन देकर महिलाओ के जीवन को सुखद बनाया है।

विधायक जितेन्द्र गेहलोत ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रत्येक स्तर पर गरीब की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बनाई है, आम आदमी को चिन्ता से मुक्त कर दिया है। संबल जैसी महत्वाकांक्षी योजना लागू करके अंतिम व्यक्ति तक उसका लाभ पहुंचाया है। दुःखी व्यक्ति के जीवन में खुशी का संचार किया है। युवा को रोजगार के लिए कई सारी योजनाओं के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाकर पूंजी उपलब्धता की चिन्ता दूर कर दी है। विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय ने उदबोधन में कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जनकल्याण की अच्छी भावना के साथ लागू की गई योजनाओं का प्रतिफल आज चहूंओर विकास के रूप में नजर आ रहा है। अब हम स्वर्णिम मध्यप्रदेश की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हरेक वर्ग की जरूरत के अनुसार योजनाएं बनाकर लागू की गई है।

महापौर डॉ. सुनीता यार्दे ने अपने उदबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आमजन की खुशहाली के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य से उबारकर विकसित प्रदेशों की श्रेणी में ला खड़ा किया है। मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश को पूरे देश में अग्रणी पंक्ति में खड़ा कर दिया है। प्रारंभ में महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र अमरसिंह मौरे ने अपने उदबोधन में हितग्राही सम्मेलन की रूपरेखा की जानकारी दी। संचालन श्री आशीष दशोत्तर ने किया।

हितग्राहियों ने उद्बोधन का सीधा प्रसारण देखा

बरबड़ स्थित विधायक सभागृह में आयोजित किये गये जिला स्तरीय हितग्राही सम्मेलन में बुधनी जिला सीहोर में आयोजित किये गये मुख्य कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया। इस प्रसारण को कार्यक्रम में मौजूद हितग्राहियों द्वारा देखा गया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम की शुरूआत में छतरपुर, विदिशा एवं मुरैना के मुख्यमंत्री उद्यमी योजना, प्रसूति सहायता योजना एवं बिजली बिल माफी योजनाओं के हितग्राहियों से सीधे बात की एवं उनके उद्गार सुने।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि हमारी सरकार ने मध्य प्रदेश को बदलने का संकल्प लिया है। बीमारू राज्य से प्रदेश विकासशील राज्य, फिर विकसित राज्य और अब इसे समृद्ध राज्य बनाना है। हमने शिक्षा में सुधार करते हुए सभी अध्यापकों को शिक्षक बना दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के, गरीबों के बेटे योग्य होने के बाद भी शिक्षा से वंचित रह जाते थे। अब आर्थिक अभाव के कारण किसी भी योग्य बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं होना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वर्ष 7.5 लाख युवाओं को रोजगार से जोड़ा जायेगा। इसमें से अभी तक 2 लाख 52हजार छात्रों को रोजगार दिया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि बेटियों का सम्मान करना इस सरकार का परम लक्ष्य है। हमने बेटियों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले नरपिशाचों को फांसी पर लटकाने का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को शासकीय नौकरी में 35 से 50 प्रतिशत तक आरक्षण दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब बिना जमीन के नहीं रहेगा। बुधनी के कार्यक्रम में केन्द्रीय कौशल विकास मंत्री अनन्तकुमार हेगड़े भी शामिल हुए।