Home रतलाम तीन दिन पूर्व मिली लाश का मामला पुलिस ने सुलझाया , गला...

तीन दिन पूर्व मिली लाश का मामला पुलिस ने सुलझाया , गला घोंटकर की गई थी हत्या ,दो आरोपी गिरफ्तार

रतलाम,3सितम्बर(खबरबाबा.काम)। जिले के बड़ावदा थाना क्षेत्र अंतर्गत तीन दिन पूर्व हुई युवक की हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है ।पुलिस के अनुसार मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 31अगस्त को थाना बड़ावदा के ग्राम मांगरोला एंव पिरहिंगोरिया के मध्य मेंवर
पिता मॉगु के खेत के पास मृतक परमानंद पिता अमृतराम निवासी पिरहिगॉरिया की लाश की सूचना प्राप्त हुई थी।पुलिस ने मर्ग पंजीबद्ध कर जांच में लिया था । मृतक की शार्ट पी.एम रिपोर्ट से गला दबाने से मृत्यु होने की जानकारी प्राप्त हुई । इस पर थाना बड़ावदा पर धारा 302 भादवि के तहत अज्ञात आरोपी के विरूद्ध हत्या का प्रकरण पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना में लिया गया ।

उक्त घटना की गंभीरता को देखते हुए, पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी द्वारा हत्या के आरोपियों का शीघ्र पता लगा कर गिरफ्तार किये जाने के निर्देश दिए और टीम का गठन किया।

एसपी गौरव तिवारी के निर्देश पर अति. पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा एंव एसडीओपी जावरा (ग्रामीण) डी.आर. माले के मार्गदर्शन में बड़ावदा थाना प्रभारी के.एल.पटेल एंव टीम को अज्ञात आरोपियों का पता लगाकर गिरफ्तार हेतु लगाया गया। विवेचना के दौरान मृतक परमानंद को रात्रि में कमल एंव प्रकाश के साथ आखरी बार देखे जाने की जानकारी सामने आई।
इस पर पुलिस ने प्रकरण के संदेही आरोपीयान की तलाश करते दोनो संदेही को ग्राम मामटखेड़ा से गिरफ्तार कर पुछताछ की गई । प्रकरण के आरोपी कमल एंव प्रकाश द्वारा बताया गया उनके द्वारा घटना दिनांक की रात्रि 11.00 बजे तक मृतक परमानंद के साथ शराब पी। इस दौरान परमानंद द्वारा गॉली गलौच कर प्रकाश के घर पर कमल का आना जाना एंव अवैध संबंध की बात कही जाने से दोनो के द्वारा गमछे से परमापंद का गला दबाकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उन से हत्या में प्रयुक्त गमछा भी बरामद कर लिया है

इनकी रही भूमिका

अपराध का खुलासा करने एंव आरोपियों की गिरफ्तारी में थाना बड़ावदा के निरीक्षक के.एल.पटेल, उप.निरी. कनसिंह ओहरे, सउनि ओ.पी.त्रिपाठी, सउनि के.एल.दायमा, ,प्र.आर. सीताराम तेनीवार , आरक्षक सावरिया पाटीदार, रवि पाटीदार, साइबर सेल के आरक्षक मनमोहन शर्मा , शुमग बुंदेला, नगेन्द्रसिंह,आर. दिपक पाटीदार का योगदान रहा।हत्या के प्रकरण का पर्दाफाश करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक रतलाम द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की गई है।