Home Uncategorized जनभागीदारी से बनेगी जिले की कार्ययोजना

जनभागीदारी से बनेगी जिले की कार्ययोजना

-जनप्रतिनिधियों ने दिखाई रूचि, कार्ययोजना सह कार्यशाला में
रतलाम(खबरबाबा.काम)। वर्ष 2018-19 के लिये विकेन्द्रिकृत एवं एकीकृत जिला कार्य योजना उन्मुखीकरण सह कार्यशाला का आयोजन कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में सम्पन्न किया गया।
बैठक को सम्बोधित करते हुए जिला योजना अधिकारी बी.के.पाटीदार ने बताया कि रतलाम जिले के समग्र एवं समावेशी विकास के लिये योजना में जन सामान्य की भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु विकेन्द्रिकृत नियोजन प्रणाली वर्तमान की आवश्यकता है। संविधान में पंचायती राज और नगरीय निकाय के माध्यम से स्वशासन की इकाईयों को मान्यता प्रदान करते हुए विकेन्द्रिकृत नियोजन की जिम्मेदारी सौपी गई है। बैठक के दौरान जावरा विधायक डॉ. राजेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि शासन द्वारा दिये जाने वाले बजट का समय पर उपयोग नहीं हो पाता है। इसके लिये शासकीय योजनाओं में सरलीकृत प्रक्रिया अपनाई जाने की आवश्यकता है। कलेक्टर श्रीमती तन्वी सुन्द्रियाल ने कहा कि शासकीय योजनाओं का विश्लेषण कर सरलीकरण की प्रक्रिया के लिये कार्य किया जायेगा। विभिन्न विभागीय अधिकारियों ने अपने विभागों की योजनाओं उसमें अब तक की गई प्रगति के बारे में विस्तार से बताया। ग्रामीण विधायक मथुरालाल डामोर ने ग्राम भैंसाडाबर में महिलाओं को विधवा पेंशन नहीं मिलने की समस्या से अवगत कराया तथा उन्होने कहा कि विद्युत विभाग के द्वारा जिन लोगों ने विद्युत बिल राशि जमा कर दी है। उनके भी कनेक्शन काटे गये है। मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री एमपीईबी को शिविर लगाकर समस्याओं के निराकरण के लिये निर्देशित किया।
विधायक आलोट जितेन्द्र गेहलोत ने ग्रामीण क्षेत्रों में नीलगाय और घोड़ा रोज के कारण होने वाली दुर्घटनाओं और खेती में नुकसान के प्रति चिंता जताई। उन्होने कहा कि यदि प्रशासन चाहे तो विधायक निधि से राशि प्रदान कर नीलगाय के लिये अभ्यारणनुमा स्थान चिन्हित कर व्यवस्था बनायी जा सकती है। जिला वनमण्डलाधिकारी क्षितिज कुमार ने समस्या के निराकरण के लिये सभी आवश्यक उपाय करने के लिये कहा। बैठक में महापौर डॉ. सुनिता यार्दे, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक अमितसिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल खाण्डेल तथा जिला पंचायत सदस्यों सहित जनप्रतिनिधि एवं जिला योजना समिति के सदस्य, विभागीय अधिकारीगण एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।