Home रतलाम जिले की पांचों विधानसभा में उम्मीदवार चयन लिए भाजपा की रायशुमारी...

जिले की पांचों विधानसभा में उम्मीदवार चयन लिए भाजपा की रायशुमारी शुरू, सबसे पहले रतलाम ग्रामीण विधानसभा के कार्यकर्ताओं से चर्चा, भाजपा में चढ़ा सियासी पारा, पढ़ें विस्तार से खबर-

रतलाम,16अक्टूबर(खबरबाबा.काम)| प्रदेश में चुनाव की तारिख नजदीक आते ही प्रत्याशी चयन को लेकर राजनीतिक दलों में माथापच्ची शुरू हो गई है| टिकट पर फैसला बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए मुश्किल भरा है, दावेदारों की नाराजगी से पार्टिया परेशान हैं|  प्रत्याशी चयन को लेकर कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए भाजपा अब रायशुमारी कर रही है। इसके पूर्व अभी तक भाजपा हर जिले में चुनिंदा नेता एवं पदाधिकारियों से चर्चा कर टिकट वितरण पर विचार कर रही थी। रतलाम में भी बुधवार को बढबढ रोड स्थित रुद्र पैलेस में भाजपा की रायशुमारी शुरू हो गई है।

रतलाम जिले की पांचों विधानसभा पर उम्मीदवार चयन को लेकर रायशुमारी के लिए खरगोन विधायक एवं मंत्री बालकृष्ण पाटीदार और इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष ललित पोरवाल रतलाम आए हुए हैं ।रूद्र पैलेस पर विधानसभा वार कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की जा रही है ।पार्टी सूत्रों के अनुसार सुबह 11:00 बजे के लगभग शुरू ही रायशुमारी में सबसे पहले रतलाम ग्रामीण के उम्मीदवार को लेकर कार्यकर्ताओं से तीन-तीन नाम लिए गए हैं।इसके बाद जिले की आलोट , जावरा और सैलाना विधानसभा से उम्मीदवार के लिए रायशुमारी की जा रही है ।सबसे अंत में रतलाम शहर विधानसभा को लेकर कार्यकर्ताओं से चर्चा कर उनकी पसंद के उम्मीदवार के नाम लिए जाएंगे। रायशुमारी देर शाम तक चलने की उम्मीद है । रायशुमारी के बहाने पार्टी द्वारा कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने का प्रयास भी किया जा रहा है। रायशुमारी में अपनी पसंद-नापसंद बताने के लिए जिले की पांचों विधानसभाओं से निर्धारित कार्यकर्ता और नेता विधानसभा वार तय समय पर रायशुमारी स्थल पर पहुंच रहे हैं। पार्टी द्वारा चुनाव के ठीक पूर्व की जा रही इस कवायद से जिले में भाजपा का सियासी पारा अचानक चढ़ गया है ।

रायशुमारी के लिए पार्टी द्वारा भेजे गए नेता स्थानीय कार्यकर्ताओं, जिला पदाधिकारी, पूर्व विधायक-सांसद समेत सभी महत्वपूर्ण लोगों से संभावित उम्मीदवार और दावेदारों का फीडबैक लेंगे| इस रायशुमारी और सर्वे रिपोर्ट के आधार पर सभी जातिगत, क्षेत्रीय और स्थानी फैक्टर को ध्यान में रखते हुए प्रत्याशियों का चयन किया जाएगा| सूत्रों के अनुसार रायशुमारी के बाद इसी माह के अंत में बीजेपी प्रत्याशियों की पहली सूची का एलान कर सकती है|

इसके पूर्व चुनिंदा नेताओं से ही हो रही थी चर्चा

इसके पूर्व अभी तक  प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जिले के चुनिंदा प्रमुख नेताओं से ही तीन संभावित उम्मीदवारों के नाम मांग रहे थे । हर बार पार्टी द्वारा आचार संहिता लगने के पूर्व ही रायशुमारी के कार्यक्रम तय कर दिए जाते हैं,जिसमें भाजपा विधानसभा चुनाव से पहले हर विधानसभा के मंडल स्तर के अलग-अलग कार्यकर्ताओं से उसकी पसंद के उम्मीदवार का नाम मांगती है। इस रायशुमारी के लिए प्रदेश स्तर के नेता विधानसभा के दौरे करते हैं। मंडल स्तर के कार्यकर्ता एक पर्ची में उम्मीदवार के लिए अपनी पसंद का नाम देते हैं। यह पर्चियां लिफाफे में बंद हो जाती हैं और प्रदेश स्तर पर इस रायशुमारी के आधार पर पैनल तैयार कर उम्मीदवार घोषित किए जाते हैं। इससे कार्यकर्ताओं के बीच यह संदेश जाता था कि टिकट बांटने से पहले पार्टी ने हर कार्यकर्ता की बात सुनी और वहीं पार्टी को भी जमीनी फीडबैक मिल जाता था। इस बार सिर्फ जिले के प्रमुख नेताओं से चर्चा की गई थी, पार्टी सूत्रों के अनुसार लेकिन जब पार्टी को कार्यकर्ताओं की नाराजगी का एहसास हुआ तो तत्काल रायशुमारी का कार्यक्रम तय कर जिलों में नेताओं को भेजा गया है।