Home Uncategorized बहुचर्चित तरुण सांखला हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, छह आरोपी गिरफ्तार,...

बहुचर्चित तरुण सांखला हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, छह आरोपी गिरफ्तार, दो की तलाश

रतलाम(खबरबाबा.काम)। एक माह पूर्व शहर में हुए बहुचर्चित तरुण सांखला हत्याकांड का पुलिस ने शनिवार को पर्दाफाश कर दिया। हत्या के आरोप में पुलिस ने आठ लोगों को नामजद किया है, जिनमें से छह आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो आरोपियों की अभी भी पुलिस को तलाश है। एसपी अमित सिंह के अनुसार मुख्य रुप से चौराहे पर वर्चस्व की लड़ाई में हुए विवाद में तरुण की हत्या की गई है, इसके अलावा कुछ आरोपियों की भूमिका की भी पुलिस जांच कर रही है।
शनिवार को एसपी अमित सिंह और एएसपी प्रदीप शर्मा ने पुलिस नियंत्रण कक्ष में 21-22 सितम्बर की रात में कालेज रोड पर हुए बहुचर्चित तरुण सांखला हत्याकांड का पर्दाफाश किया। एसपी सिंह ने पत्रकारों को मामले की जानकारी देते हुए बताया कि तरुण की हत्या के आरोप में अयाज पिता इरदीश 22 वर्ष निवासी चिंगीपूरा, सलमान उर्फ पप्पन 22 वर्ष निवासी चिंगीपुरा, वसीम पिता शब्बीर पठान 26 वर्ष निवासी चिंगीपूरा, असीम पिता जहूर खां 22 वर्ष निवासी शैरानीपुरा, अज्जू उर्फ मोइन पिता मंसूर 20 वर्ष निवासी शैरानीपूरा को गिरफ्तार किया है, जबकि जुबैर पिता फकीर मोहम्मद 37 वर्ष निवासी आनंद कालोनी और असजद पिता जुहुर खान 36 वर्ष निवासी शैरानीपुरा फरार है, जिनकी तलाश की जा रही है।
वर्चस्व की लड़ाई में हुई हत्या
एसपी अमित सिंह ने बताया कि घटना के दिन बाइक पर जा रहे तरुण को कालेज रोड पर दुपहिया वाहन से ओवरटेक कर अयाज ने गोली मारी थी ,दुपहिया सलमान चला रहा था। पुलिस के अनुसार हत्या के पीछे मुख्य कारण आपसी विवाद है। एसपी सिंह ने बताया कि मृतक तरुण और आरोपी अयाज के बीच चौराहे पर वर्चस्व को लेकर लड़ाई सामने आई है। दो माह पूर्व चौराहे पर मृतक और आरोपी अयाज का एक-दुसरे को घुरने की बात पर विवाद हुआ था। इसके बाद दो बार और इनका विवाद हो चुका है। इसी विवाद के चलते आरोपियों ने तरुण की हत्या की योजना बनाई और वारदात को अंजाम दिया। एसपी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों से वारदात में प्रयुक्त पिस्टल, दुपहिया वाहन, दो राउंड, रैकी के लिए प्रयुक्त बाइक, आरोपियों को भागने में प्रयुक्त कार, मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया है।
सीसीटीवी फुटैज एकत्रित किए
एसपी अमित सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस हत्याकांड के पर्दाफाश में वैज्ञानिक तरिके से विश्लेषण के साथ ही विभिन्न क्षैत्रो में लगे सीसीटीवी कैमरे से आरोपियों के विडियों फुटेज भी एकत्रित किए। इसके लिए पुरी टीम में काफी मेहनत की। घटना स्थल से लेकर आरोपियों के भागने तक के फुटेज पुलिस के पास उपलब्ध है। विडियों फुटेज से घटना को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों की पुलिस को पहनान हुई और उसके बाद उनके साथ इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों तक भी पुलिस पहुंची।
टीम को दस हजार का पुरस्कार
बहुचर्चित तरुण सांखला हत्याकांड के खुलासे के लिए उज्जैन रेंड के आईजी व्ही.मधुकुमार, डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी और एसपी अमित सिंह के निर्देशन में एएसपी प्रदीप शर्मा, राजेश सहाय, सीएसपी विवेकसिंह चौहान के मागदर्शन में टीम का गठन किया गया था। टीम में शामिल माणकचौक थाना प्रभारी नरेन्द्र यादव, एसआई रुपसिंह बैस, रविन्द्र दण्डोतिया, प्रधान आरक्षक युसुफ मंसूरी, आरक्षक राहुल जाट, हिम्मतसिंह, हिमांशु यादव, संदीप, दिनेश जाट, धर्मेन्द्र जाट, साइबर सेल के प्रधान आरक्षक लक्ष्मीनारायण सूर्यवंशी, रितेशसिंह, मनमोहन सिंह, हिम्मत सिंह, बलराम, पप्पू वाघेला और रोनक पोरवाल की भूमिका मामले के पर्दाफाश और आरोपियों की गिरफ्तारी में रही। एसपी ने टीम को दस हजार का पुरस्कार देने की घोषणा की है।