Home मध्यप्रदेश हम सालों में नहीं दिन और हफ्तों में विकास करते हैं :मुख्यमंत्री...

हम सालों में नहीं दिन और हफ्तों में विकास करते हैं :मुख्यमंत्री कमलनाथ, किसान फसल ऋण माफी की रतलाम जिले से शुरुआत

रतलाम 22 फरवरी(खबरबाबा.काम) । मुख्यमंत्री कमलनाथ ने  शुक्रवार को  मध्यप्रदेश के रतलाम से  फसल ऋण माफी योजना के लाभ पत्र वितरण कार्यक्रम की शुरुआत की।  इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज मध्यप्रदेश का ऐतिहासिक दिन है। हमने आज से 56 दिन पूर्व किसानों के फसल ऋण माफी की जो घोषणा की थी, उसे आज पूरा कर दिया है। आज से रतलाम जिले से किसानों के खाते में फसल ऋण माफी की राशि अंतरित होना प्रारंभ हो गई है तथा शीघ्र ही सभी के खातों में यह राशि पहुँच जाएगी। हम सब मिलकर प्रदेश के विकास का नया नक्शा बनायेंगे तथा प्रदेश का तीव्र गति से विकास करेंगे।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज शुक्रवार को रतलाम में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम में ये विचार प्रकट किए।  इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद  कांतिलाल भूरिया, प्रभारी मंत्री सचिन सुभाष यादव, विधायक हर्षविजय गेहलोत सैलाना,  मनोज चावला, प्रदेश महामंत्री प्रमोद गूगलिया ,प्रदेश सचिव मंसूर अली पाटोदी , निजाम काजी सहित अन्य नेता एवंजनप्रतिनिधिगण  उपस्थित थे ।

हम सालों में नहीं दिनों और हफ्तों में विकास करते हैं

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हम सालों में नहीं, दिनों और हफ्तों में विकास करते हैं। हम घोषणाओं और ज्ञापनों में विश्वास नहीं करते वरन काम करने में भरोसा करते हैं। मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश के लगभग 50 लाख किसानों का कर्जा माफ कर रही है, जो कि इतने कम समय में किये जाने वाला अभूतपूर्व कार्य है।

सबसे बड़ी चुनौती कृषि क्षेत्र

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती कृषि क्षेत्र का विकास एवं किसानों का कल्याण है। जब तक हमारा किसान मजबूत नहीं होगा, हम मजबूत नहीं होंगे। सरकार किसानों की तरक्की के लिए हर संभव कार्य करेगी।

हर हाथ को मिलेगा रोजगार

प्रदेश सरकार के सामने आज दूसरी बड़ी चुनौती बेरोजगारी है। हम हर हाथ हो काम दिलायेंगे। प्रदेश में आज से मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसके अंतर्गत हर शहरी युवा को वर्ष में 100 दिन का रोजगार दिलाया जाएगा। उन्होंने आश्वस्त किया कि मध्य प्रदेश में नया औद्योगिक निवेश आएगा तथा बेरोजगारी दूर होगी।

 

 

40 हजार से ज्यादा किसानों के 134 करोड़ से अधिक की राशि के कर्ज माफ

 

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रतलाम जिले के नामली मे आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत किसानों को लाभ वितरण का शुभारंभ किया। प्रथम चरण में रतलाम जिले के 40 हजार से भी अधिक किसानों  के 134 करोड़ रु की राशि के कर्ज माफ किए गए हैं। इसमें रतलाम तहसील के 9500 किसानों के 41 करोड़ रु. के कर्ज माफ हुए हैं। मुख्यमंत्री  कमलनाथ ने नामली में किसान बाबूलाल भैरुलाल राठौर को 01 लाख 95 हजार 447 रुपये,  रमेशचन्द्र बाबूलाल नामली को 01 लाख 81 हजार 429,  नाथूलाल हर जी सेमलिया को 01 लाख 04 हजार 183 रु. श्रीमती यशोदाबाई भरतलाल जाट को 96 हजार 773 रु. एवं श्रीमती संगीता जाट नामली को 01 लाख 92 हजार, शांतिलाल वरदाजी कलमोड़ा को 47 हजार 669 रु.  जुझारसिंह किशनलाल बरखेड़ाकला को 58 हजार 781 रु. दिनेश बाबूलाल बड़ावदा को 46 हजार 37 रु. जीवणा रोडा जी पाटड़ी को 40 हजार और बालाराम माना जी कालूखेड़ा को 30हजार 887 रु की राशि के ऋण माफी प्रमाण पत्र प्रतीक स्वरुप प्रदान किए।  मुख्यमंत्री कन्या विवाह-निकाह योजना के तहत हितग्राहियों और कृषि विस्तार सुधार कार्यक्रम के तहत सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार भी वितरित किए गए।

मुख्यमंत्री द्वारा 197 करोड़ के निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास

मुख्यमंत्री  कमलनाथ द्वारा शुक्रवार को नामली में विभिन्न विभागों के लगभग 197 करोड़ लागत के 30 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री द्वारा 57.81 करोड़ लागत के 12 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं 139.18 करोड़  लागत के 18 निर्माण कार्यों का शिलान्यास भी किया।

मुख्यमंत्री ने अपना वचन निभाया – प्रचार कम काम ज्यादा सरकार का मूल मंत्र

 

जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री सचिन सुभाष यादव ने अपने उद्बोधन में कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने प्रदेश के अन्नदाताओं से 02 लाख तक का कर्जा माफ करने का जो वचन दिया था, उसे निभाया है। आज किसानों के खाते में राशि जमा होना प्रारंभ हो गई है। ऋण माफी के लिए सरकार ने पारदर्शी, सरल प्रक्रिया अपनाई है और किसानों को स्व-प्रमाणीकरण का अधिकार इस योजना में दिया गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री जी को साधुवाद कि उन्होंने किसानों का कर्जा माफ कर अपना वचन पूरा किया। सरकार ने मात्र 57 दिनों में कई वचनों को पूरा किया है। किसानों का कर्जा माफ, बिजली बिल हॉफ, कन्या विवाह के लिए 51 हजार रु., 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली देने जैसे वचनों को तत्परतापूर्वक पूरा किया है। प्रदेश सरकार प्रचार कम काम ज्यादा के मूल मंत्र को दृष्टिगत रख काम कर रही है।

क्षेत्रीय सांसद श्री कांतिलाल भूरिया ने कहा कि रतलाम शहर देश और दुनिया में रतलामी सेव के लिए सुप्रसिद्ध है। उन्होंने रतलाम को संभाग बनाने, नामली को तहसील का दर्जा देने, रतलाम में महिला इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने, अल्कोहल प्लांट की जमीन पर औद्योगिक क्षेत्र बनाकर नवीन उद्योगों को भूखण्ड प्रदान करने, दिल्ली-बाम्बे 08 लेन सड़क निर्माण में किसानों की जमीन का मुआवजा 04 गुना दिलाने, माही नदी पर डेम बनाकर रतलाम तक पानी लाने की मांग भी मुख्यमंत्री जी से की।  इस पर मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि मैं घोषणा नहीं करता, पर जिले की जनता को निराश भी नहीं करुंगा।

इस अवसर पर कमिश्नर  अजीत कुमार, आई.जी. राकेश गुप्ता, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, एस.पी. गौरव तिवारी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक, पत्रकारगण, पंचायत पदाधिकारी एवं हजारों की संख्या में किसान भाई उपस्थित थे।