Home रतलाम 29 अप्रैल को सीएम सहित अन्य वीआईपी के जिले में आने की...

29 अप्रैल को सीएम सहित अन्य वीआईपी के जिले में आने की संभावना, ताल में आयोजित सामुहिक विवाह सम्मेलन में हो सकते है शामिल, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने ताल पहुंचकर ली अधिकारियों की बैठक, तैयारियों को लेकर दिए दिशा-निर्देश।

रतलाम, 21 अप्रैल(खबरबाबा.काम)। मुख्यमंत्री कन्यादान/निकाह योजना के तहत जिले के ताल में आगामी 29 अप्रैल को वृहद स्तर पर सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित होने जा रहा है। भव्य स्तर पर आयोजित होने वाले इस विवाह सम्मेलन में करीब 170 जोड़ेे वैवाहिक बंधन में बंधेंगे। अब तक 117 वर-वधुओं का पंजीयन हो चुका है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री  शिवराजसिंह चौहान का आगमन भी प्रस्तावित है।सूत्र बताते है कि कैन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत के पोते का विवाह भी सम्मेलन में होने के कारण सीएम के अलावा कुछ अन्य वीआईपी भी सामुहिक विवाह सम्मेलन में शामिल हो सकते है।

कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने 21 अप्रैल को ताल पहुंचकर स्थानीय अंबेडकर भवन में तैयारियों की समीक्षा की, अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। बैठक में स्थानीय विधायक  जितेन्द्र गेहलोत, सीईओ जिला पंचायत  सोमेश मिश्रा, अपर कलेक्टर डा. कैलाश बुन्देला, अतिरिक्ति पुलिस अधीक्षक डां. राजेश सहाय, सीएसपी आशुतोष वागरी, एसडीएम आलोट  रणजीत कुमार, अतिरिक्त सीईओ जि.पं. दिनेश वर्मा, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री जावेद शकील, एकीकृत बाल विकास सेवा की कार्यक्रम अधिकारी सुश्री सुषमा भदौरिया, जिला महिला सशक्तीकरण अधिकारी आर.के. मिश्रा तथा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं स्थानीय अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने विवाह आयोजन के लिये विभिन्न बिन्दुओं को चिन्हांकित करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को समय सीमा में आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने आयोजन स्थल पर वाहन पार्किंग, विवाह स्थल एवं हैलीपेड का नजीरी नक्शा तत्काल बनाने के निर्देश दिये। विवाह स्थल पर सुरक्षित टेण्ट व्यवस्था, भोजन व्यवस्था एवं पेयजल के लिये संबंधित विभागों को निर्देशित किया। स्थल पर बडी संख्या में अस्थाई टायलेट्स की व्यवस्था भी की जाएगी, इनमें दिव्यांगों के लिए भी टायलेट रहेंगे। फायर ब्रिगेड के तीन वाहनों की व्यवस्था की जायेगी।विवाह स्थल पर एम्बूलेस, डाक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, ग्रीष्मकाल के मद्देनजर दवाईयों की व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जायेगी। विवाह के लिए वर-वधुओं के पंजीयन जारी हैं। बताया गया कि विवाह आयोजन में वर-वधुओं का चल समारोह नगर में निकलेगा, इसके लिए विभिन्न व्यवस्था करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। कलेक्टर ने विवाह स्थल पर तुलसी के पौधों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा। सामूहिक विवाह आयोजन के दौरान भीड़ नियंत्रण के लिये कलेक्टर ने सीएसपी तथा एसडीएम को विशेष रुप से कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिये।उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कन्यादान निकाह योजना में शासन द्वारा कन्या के दाम्पत्य जीवन की खुशहाली तथा गृहस्थी की स्थापना के लिये 17 हजार रुपए की राशि एकाउंटपेयी चेक के माध्यम से सामूहिक विवाह कार्यक्रम में तत्समय ही कन्या को उपलब्ध कराई जाती है। विवाह संस्कार के लिए आवश्यक सामग्री हेतु 5 हजार रुपये प्रदान किये जाते हैं। विवाह कार्यक्रम आयोजित करने के लिए स्थानीय निकाय को व्यय की प्रतिपूर्ति हेतु 3 हजार रुपये दिये जाते हैं। इसके अलावा कन्या को स्मार्ट फोन क्रय करने के लिये 3 हजार रुपये की राशि दी जाती है।

———–